(English) Natural Ways To Calm And De-Stress Your Mind And Body
Health Hunt Please change Orientation

Want to unlock the secrets of holistic health?

Yes, tell me more No, I like living in oblivion
3
Notifications Mark all as read
Loader Image
No notifications found !
  • English
  • हिन्दी
3
Notifications Mark all as read
Loader Image
No notifications found !
हमारे साथ साझा करें
  • English
  • हिन्दी
Default Profile Pic

0 New Card

अपने मन और शरीर को शांत और तनाव मुक्त करने के प्राकृतिक तरीके

मानसिक स्वास्थ्य
Nikhil Kapur Tri-athlete
3 min read

अपने मन और शरीर को शांत और तनाव मुक्त करने के प्राकृतिक तरीके

  • 1.3k Likes
  • 0 Comment

एक बुद्धिमान बूढ़े आदमी ने एक बार कहा था कि उसकी उम्र 100 वर्ष है, क्योंकि वह जब जाग सकता था और तनावग्रस्‍त हो सकता था, तभी सो जाता था।

इसलिए तनाव भी उतना ही पुराना है जितनी पुरानी मानवता है; तनाव शरीर के विश्राम करने की प्रक्रिया का विरोध करता है। हालांकि, इसमें सब कुछ बुरा नहीं है। थोड़े समय के अस्‍थायी तनाव को अच्छा माना जा सकता है, क्योंकि यह हमें प्रेरित रहने, हमारे लक्ष्यों तक पहुंचने, जीवित रहने और यहां तक ​​कि, अपने कामकाज में उत्कृष्ट होने में भी मदद करता है।

लेकिन जब तनाव हमारे दिमाग और शरीर में लंबे समय तक बना रह जाता है, तो यह शरीर की प्राकृतिक लय को उलट देता है- हम अधिक खाते हैं, कम सोते हैं, आदि। इस पुराने तनाव का हर मामले में अवांछित प्रभाव पड़ता है।

जिन कारणों से लोगों में तनाव होता है, उनमें कामकाज और वित्तीय मामले प्रमुख कारण हैं। हालांकि, आजकल इलेक्ट्रॉनिक संचार और सोशल मीडिया के कारण भी तनाव की समस्‍या बढ़ी है। तो ऐसी स्‍थिति में एक समग्र दृष्टिकोण से तनाव से निपटने में मदद मिल सकती है।

समग्र दृष्टिकोण साझा करने से पहले, आइए, मैं आपको उन दो गतिविधियों के बारे में बताता हूं जिनका मैं अपनी शांति और तनावमुक्‍त जिन्‍दगी के लिए उपयोग करता हूं।


  1. अपने बच्‍चों के साथ समय बिताना: मैं सचेत रहने का प्रयास करता हूं और हर समय एक साथ कई काम करने से बचने का प्रयास करता हूं। इससे मुझे अपने बच्‍चों के साथ बिताने के लिए गुणवत्तापूर्ण समय पाने में मदद मिलती है। संयोग से, मेरे बेटे के साथ समय बिताना मेरे लिए आराम करने का एक निश्चित तरीका है, लेकिन ऐसे दिन भी होते हैं जब मेरे पास उसके साथ बिताने के लिए बहुत कम समय रहता है। मैंने देखा है कि अगर मैं अपने बेटे के साथ 5 मिनट बिताता हूं और मैं उसकी बातें ध्‍यान से सुनता हूं या उसके साथ बातचीत करता हूं, तो बातचीत की गुणवत्ता समृद्ध हो जाती है और हमारा रिश्‍ता मजबूत होता है। यह अनुभव मुझे शांत महसूस करने में मदद करता है।
  2. हमारे प्राचीन ग्रंथों से सीखना: दूसरी गतिविधि कुछ ऐसी है जो हमारे प्राचीन ग्रंथों की बेहतर समझ बनाने के लिए एक खोज के रूप में शुरू हुई थी और अब तक, मैंने उस दिशा में कुछ आरंभिक कदम ही उठाए हैं। हालांकि, मुझे आप सबके साथ अवश्‍य साझा करना चाहिए कि जिन समस्‍याओं का हम अपने आधुनिक जीवन में सामना करते हैं, उनका समाधान हमारे वेदांत और भगवत गीता जैसे प्राचीन ग्रंथों में मौजूद है। इन सिद्धांतों को समझना और उनका पालन करना तनाव से निपटने का विश्‍वसनीय और आसान तरीका है।
इन सिद्धांतों को भारत के कई संप्रदायों द्वारा पढ़ाया जाता है और शिक्षाएं सभी धर्मों के लोगों पर लागू होती हैं। महात्मा गांधी ने भी भगवद् गीता को जीवन का शब्दकोश कहा है।

भगवान श्रीकृष्ण ने तनाव से निपटने के बारे में बहुत उपयोगी बात कही है:

‘‘जो अपरिहार्य है, उसके बारे में चिंता न करें!’’‘

अधिकांश मामलों में, तनाव सिर्फ हमारी अपनी मूर्खता का नतीजा होता है, इसलिए समाधान भी हमारी अपनी बुद्धि के उचित उपयोग में ही निहित है।

शांत रहने और तनाव मुक्त रहना सुनिश्चित करने के लिए, एक बहुआयामी सोच की जरूरत है। यहां कुछ सुझाव दिये गये हैं जो कारगर साबित हुए हैं:



 
  1. कार्यसूची: गतिविधियों को प्राथमिकता दें, ताकि आप हमेशा दबाव में न रहें।
  2. नींद लेना: अच्छी नींद लें। हर रात एक ही समय पर और समान अवधि के लिए सोयें।
  3. कसरत: तेज चलने या योग (प्राणायाम करने की सिफारिश की जाती है) सहित हल्‍के कार्डियो व्यायाम करें।  आप किसी अन्य गतिविधि को भी कर सकते हैं जो आपको आराम देने में सहायक हो। ऐसी कोई भी गतिविधि आपको मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनने में मदद करेगी।
  4. ध्यान: ध्यान आपको आराम पहुंचाने में सहायक है। अध्ययनों से पता चलता है कि ध्यान करने से सिस्टोलिक (अपर वैल्‍यू) रक्तचाप 5 मिलीमीटर पारा (मिमी एचजी) या उससे भी कम हो जाता है। ध्यान का अभ्यास रक्तचाप  और हृदयगति को बढ़ाने वाले हार्मोन, नोरेपीनेफ्रिन, के प्रभाव को रोक देता है।
  5. भोजन: दीर्घकालिक तनाव के कारण अक्सर हमें अधिक भोजन करने की इच्‍छा होती है। इसलिए भोजन करने के मामले में सावधानी बरतें और शर्करायुक्त भोजन, वाष्पित पेय, पैक किए गए स्नैक्स आदि से बचें।
  6. सामाजिक स्वास्थ्य: करीबी दोस्तों और परिवार के साथ समय बितायें, उन पर भरोसा करें और वे ऐसे  समाधान बता सकते हैं जिन्हें हम नहीं देख पाते हैं।
  7. उपकरणों का इस्‍तेमाल समझदारी से करें: डिवाइस/इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण के उपयोग के मामले में अनुशासित रहें।
निखिल कपूर ट्राई-एथलीट हैं और आत्‍मंतन वेलनेस रिज़ॉर्ट के संस्थापक और निदेशक हैं। वह हेल्थहंट स्वास्थ्य परिषद के सदस्य भी हैं।

Comment (0)

Submit Loader Image
Nikhil Kapur

Nikhil Kapur

Tri-athlete
An Ironman Tri-athlete by passion, I am the Co-Founder Director of the award-winning ATMANTAN Wellness Resort, a one of its kind International wellness resort located in Mulshi, a hill station near Pune, India. The resort was most aptly inaugurated on World Health Day in 2016 and offers deep, authentic and multi-dimensional wellness to its guests. The luxury lifestyle magazine – GQ, awarded me one of the ‘50 Most Influential Young Indians’ (2016) for men under 40 in India who are increasingly influencing the way we live, work and play. I am also founder of Keona Organics, which is engaged in genuine organic farming practises in farms near Pune. I want to create awareness on organic produce and want people to make the responsible choices when choosing food items for their kitchen. On the home front, I love playing father to my ten year old son, he is my daily destress pill
Nikhil Kapur

Nikhil Kapur

Tri-athlete
An Ironman Tri-athlete by passion, I am the Co-Founder Director of the award-winning ATMANTAN Wellness Resort, a one of its kind International wellness resort located in Mulshi, a hill station near Pune, India. The resort was most aptly inaugurated on World Health Day in 2016 and offers deep, authentic and multi-dimensional wellness to its guests. The luxury lifestyle magazine – GQ, awarded me one of the ‘50 Most Influential Young Indians’ (2016) for men under 40 in India who are increasingly influencing the way we live, work and play. I am also founder of Keona Organics, which is engaged in genuine organic farming practises in farms near Pune. I want to create awareness on organic produce and want people to make the responsible choices when choosing food items for their kitchen. On the home front, I love playing father to my ten year old son, he is my daily destress pill


By clicking “Accept” or continuing to use our site, you agree to our Privacy policy for website

Ask the Experts

Some things to keep in mind

Have a question related to the following? We’d love to help. Please submit your query, and feel free to leave your name or choose the option of staying anonymous. If our team of experts are able to respond, you will be notified via email, and an article might be published with the response.



  • Nutrition
  • Fitness
  • Organic Beauty
  • Mental Wellbeing
  • Love
Cancel

Keep me anonymous. Cancel

Thank you! We look forward to answering your question.

All responses can be seen in the ‘My Hunts’ section.